Saturday, December 3, 2022

इनके पिता और दादा कभी थे गुलाम, मगर इनके बच्चे हैं आज दुनिया के बड़े अमीर

Must Read

नई दिल्ली : कहते हैं कि यदि किसी भी चीज़ को पाने के लिए मेहनत की जाए तो वे जरूर हासिल होती है। आज भी ऐसे कई लोग हैं जिनके परिवार ने दुखों का सामना किया लेकिन उनके बच्चों ने करोड़ों की माया को अपने दम पर कमाया। आज ऐसे ही कुछ बिज़नसमैन के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं जिनके पूर्वज कभी गुलाम थे और पिता ने मजदूर के तौर पर काम किया। आइए जानते हैं।

रूबेन सिंह

रूबेन को इंग्लैंड के अरबपति के तौर पर जाना जाता है। रूबेन allday PA कंपनी के मालिक हैं। बताया जाता है कि रूबेन ने भी अपनी जिंदगी में काफी उतार चढ़ाव देखें हैं। 1960 में रूबेन के पिता भी दिल्ली से ब्रिटेन आए थे। वहीं कुछ समय पहले आर्थिक स्थिति भी अच्छी नही थी। लेकिन आज रूबेन सिंह के पास जितने रंग की पगड़ी है उतने ही रंग की रोल्स रॉयस भी हैं।

सायरस पूनावाला

सायरस सीरम इंस्टीट्यूट के संस्थापक हैं। बताया जाता है कि सायरस ने भी करियर को एक साधारण घोड़ा व्यापारी के तौर पर ही शुरू किया था। धीरे धीरे उन्हें इस काम में सफलता मिलती गई। सायरस को भी गाड़ियों का शौक रहा है। वहीं उनके पास भी करोड़ों की संपत्ति के साथ महंगी गाड़ियां भी हैं।

लक्ष्मी मित्तल

लक्ष्मी मित्तल को स्टील किंग के तौर पर जाना जाता है। कहा जाता है कि लक्ष्मी के परिवार ने भी काफी दुख झेले हैं। उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी जिसके कारण उन्हें कई बार भूखे भी सोना पड़ता था। वहीं लक्ष्मी के पिता ने जैसे तैसे मजदूरी कर उन्हें पाल पोष कर बढ़ा किया। आज लक्ष्मी मित्तल के पास पैसों की कोई कमी नहीं है। वहीं उनके पास मर्सिडीज और पोर्शे जैसी करोड़ों की गाड़ियां भी हैं।

मयूर श्री

बता दें कि मयूर भी अमेरिका में रहने वाली भारतीय मूल के व्यापारी हैं। बताया जाता है कि मयूर के पूर्वजों को भारत से गुलाम बनाकर दक्षिण अफ्रीका लाया गया था। वहीं उनके दादा ने भी फैक्ट्री में मजदूर के तौर पर काम किया। लेकिन आज मयूर का नाम अमेरिका के सबसे अमीर लोगों में शामिल हो चुका है। वहीं मयूर के पास आज करोड़ों की संपत्ति भी है। इसके साथ मयूर के पास पोर्शे, अवेनटेडोर जैसी महंगी गाड़ियां भी हैं।

गौतम सिंघानिया

गौतमसिंघानिया भी रेमंड्स कंपनी के मालिक हैं। विनोदी दास सिंघानिया ने ही एक साधारण बैंकर के तौर पर अपना काम शुरू किया था। वहीं इस दौरान उन्होंने भी काफी गरीबी के दिन देखें हैं। आज गौतम के पास भी करोड़ों की माया हो चुकी है। वहीं उनके पास आज फ़रारी, ऑडी, लैम्बोर्गिनी जैसी महंगी गाड़ी भी है।

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Connect With Us

223,344FansLike
3,123FollowersFollow
3,497FollowersFollow
22,356SubscribersSubscribe

Latest News

मेट्रो फेज 4 के तीनों कॉरीडोर पर बिना चालक के दौड़ेगी मेट्रो, 312 मेट्रो कोच के लिए हो चुका है करार

Delhi: दिल्ली मेट्रो का विस्तार करने का काम तेजी से किया जा रहा है। मेट्रो के विस्तार का काम...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img
Deserving India - Haryana