Wednesday, November 30, 2022

हरियाणा में अब जमीन पर बैठकर पढ़ाई नहीं करेंगे बच्चे, लागू हुई नई योजना

Must Read

सिरसा: हरियाणा के सरकारी स्कूलों में जमीन पर बैठकर पढ़ाई करने वाले बच्चों के दिन अब बदलने वाले हैं. इन हजारों बच्चों पर सरकार ने दरियादिली दिखाते हुए उनके लिए एक बड़ा बजट तैयार किया है. इस बजट से सरकारी स्कूलों के लिए ड्यूल बेंच खरीदी जाएंगी, ताकि सर्दी के मौसम में बच्चों को जमीन पर बैठकर पढ़ाई ना करनी पड़े.
शिक्षा विभाग ने पहली से बारहवीं कक्षा के सभी विद्यार्थियों की संख्या के हिसाब से ड्यूल डेस्क उपलब्ध करवाने की तैयारियां शुरू कर दी है।

सीएम ने दिए थे निर्देश

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विशेष तौर पर सरकारी स्कूलों को टाट पट्टी से मुक्त करने के निर्देश दिए थे. इसके बाद शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों के लिए ड्यूल बैंच खरीदने की योजना तैयार कर ली. हरियाणा के सिरसा से शुरू हुई योजना धीरे-धीरे पूरे प्रदेश में लागू की जाएगी. इस योजना से सरकारी स्कूलों के लाखों बच्चों को विशेष तौर पर लाभ मिलेगा. अभी तक ज्यादातर स्कूलों में बच्चे नीचे टाट पट्टी पर बैठकर ही पढ़ाई करते हैं. मगर अब जल्द ही यह बच्चे डेस्क पर बैठकर पढ़ते नजर आएंगे.

इस प्रकार उपलब्ध होंगे ड्यूल डेस्क

सिरसा जिले में सबसे पहले एक खंड में ड्यूल डेस्क उपलब्ध करवाए जाएंगे। खंड के करीब 200 स्कूलों में शुरुआती चरण में ड्यूल डेस्क मिलेंगे। इसके लिए मुख्यालय की ओर विशेष रूप से बजट भी जारी किया गया है। बजट और सैंपल के आधार पर स्थानीय बाजार से स्कूल खुद डेस्क खरीदेंगे। इस कार्य में स्कूल मुखिया का स्कूल प्रबंधन कमेटी (एसएमसी) मदद करेगी। विभाग की ओर से 400 रुपये प्रति बैंच के हिसाब से करीब सवा छह लाख रुपये का बजट जारी किया गया है।

सिरसा जिले में 845 सरकारी स्कूल

बता दें कि सिरसा जिले के 845 सरकारी स्कूलों में बच्चे नीचे टाट पट्टी पर बैठकर पढ़ाई करते हैं. अधिकारियों का कहना है कि इन स्कूलों में बच्चों के लिए करीब 6000 बेंच की जरूरत है. कई स्कूल तो ऐसे भी हैं जहां मात्र 20से 30 बेंच की कमी है तथा कई स्कूलों में ऐसी बेंच भी हैं जिन्हें मरम्मत करके दोबारा काम आने लायक बनाया जा सकता है. फिलहाल इन स्कूलों को निर्देश दिए गए हैं कि वह एक रिपोर्ट बनाकर भेजें कि किस स्कूल को कितनी बेंच की जरूरत है. इस रिपोर्ट के आधार पर ही बेंच खरीदने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी.

स्कूलों को रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश

ऐसे में फिलहाल छात्र संख्या के हिसाब से जरूरत को देखते हुए स्कूल वाइज रिपोर्ट तैयार की जा रही है। स्कूलों से मिली रिपोर्ट के प्राथमिक आंकड़ों के अनुसार खंड के 200 स्कूलों में दो हजार से ज्यादा बैंच कंडम स्थिति में हैं। जिन्हें कबाड़ या खाली जगह पर रखा गया है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कबाड़ में पड़े इन बेंच को मरम्मत करके बैठने लायक बना लिया जाएगा, ताकि उन जरूरतों को पूरा किया जा सके. सरकार से बजट मंजूर हो चुका है और अब जल्द ही इस प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाएगा.

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Connect With Us

223,344FansLike
3,123FollowersFollow
3,497FollowersFollow
22,356SubscribersSubscribe

Latest News

दिल्ली देहारादून एक्सप्रेस वे का रास्ता हुआ साफ, अब मात्र 2 घंटे में तय होगा दिल्ली से देहारादून का सफर

Delhi: देश के अलग अलग हिस्सों में सड़कों का जाल बिछाने का काम किया जा रहा है। सड़कों का...
- Advertisement -spot_img

More Articles Like This

- Advertisement -spot_img
Deserving India - Haryana